युवा पीढ़ी को आजादी तथा तिरंगे के महत्व से अवगत कराना है "हर घर तिरंगा अभियान" का मुख्य उद्देश्य

शासकीय अधिकारियों तथा बैंक कर्मियों ने लिया अपने कार्यालयों तथा घरों में राष्ट्रीय ध्वज लगाने का संकल्प

विश्व संवाद केंद्र, भोपाल    04-Aug-2022
Total Views |
tiranga yatra
 
 इंदौर. आजादी के 75वें वर्ष के महत्व को जन-जन तक पहुंचाने के लिए संपूर्ण देश तथा प्रदेश में 13 से 15 अगस्त तक "हर घर तिरंगा अभियान" आयोजित किया जा रहा है। इंदौर जिले में भी इस अभियान को जन आंदोलन का रूप देने के लिए व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। इसी क्रम में गुरुवार को रविंद्र नाट्य गृह में जिले के सभी केंद्रीय तथा राज्य के विभागीय अधिकारियों, सार्वजनिक उपक्रम तथा सभी बैंक मैनेजर्स की बैठक आहूत की गई। बैठक में पुलिस आयुक्त श्री हरिनारायण चारी मिश्र, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, अपर कलेक्टर द्वय श्री अजय देव शर्मा एवं डॉ अभय बेडेकर, एकेवीएन के एमडी श्री रोहन सक्सेना, आईडीए के सीईओ श्री आर.पी. अहिरवार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। इस अवसर पर उपस्थित सभी शासकीय अधिकारियों तथा बैंक कर्मियों ने इस अभियान को जन आंदोलन का रूप देने तथा अपने-अपने कार्यालयों तथा घरों में राष्ट्रीय ध्वज लगाने का संकल्प लिया।
 
जन-जन तक पहुंचे संदेश, देश के गौरव को बढ़ाना है "हर घर तिरंगा" का उद्देश्य
 
कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव नए विचारों और संकल्पों का अमृत है। इसी दिशा में देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 13 से 15 अगस्त तक देश के हर घर में तिरंगा फहराए जाने का संकल्प लिया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भी प्रदेश स्तर पर इस संकल्प को पूर्ण करने की जिम्मेदारी उठाई है। इस अभियान को सफल बनाने के लिए इसे जन आंदोलन का स्वरूप देना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि सभी शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारी इस आंदोलन में व्यक्तिगत रूप से सम्मिलित हो और तिरंगे के महत्व का संदेश जन-जन तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य है कि हमारी आगे आने वाली युवा पीढ़ी को इस में सहभागी बनाकर आजादी तथा तिरंगे की गौरवशाली गाथा उनके समक्ष प्रस्तुत करें।
 
अभियान को सफल बनाने के लिए अपनाएं पुश फैक्टर
 
कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान को प्रत्येक जनमानस तक पहुंचाने के लिए सभी शासकीय अधिकारियों को पुश फैक्टर अपनाना पड़ेगा। हमें विकेंद्रीकृत रूप से इस अभियान को जमीनी स्तर तक पहुंचाना है। उदाहरण के तौर पर जल जीवन मिशन के तहत गठित समिति गांव-गांव जाकर लोगों को अपने घरों पर तिरंगा लगाने के लिए प्रेरित कर सकती हैं। बैंक मैनेजर भी अपने सभी अकाउंट होल्डर को यह संदेश दे सकते हैं कि आजादी के 75वें वर्ष में तिरंगे को फहराकर देश की प्रगति में सहभागी बन सकते हैं। सभी विभागीय अधिकारी अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रेरित कर इस अभियान को जन आंदोलन का रूप दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह स्वच्छता अभियान जन सहयोग से सफल बना है उसी तरह हर घर तिरंगा अभियान भी जन सहभागिता का एक उच्चतम उदाहरण पेश कर सकता है।
 
सशुल्क वितरित किया जाएगा तिरंगा
 
कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने कहा कि तिरंगे के महत्व को समझने के लिए जरूरी है कि जिले का प्रत्येक व्यक्ति सशुल्क तिरंगे को खरीदे। उन्होंने बताया कि पूरे इंदौर जिले में कुल 7 लाख 87 हजार 214 परिवार अपने-अपने घरों पर तिरंगे लगायेंगे। तिरंगे के वितरण के लिये नगर निगम के प्रत्येक वार्ड में दो केंद्र बनाए गए हैं साथ ही जोनल मुख्यालय तथा नगर निगम के मुख्यालय भवन पर भी तिरंगे विक्रय किए जाएंगे। आठों नगर पालिका में भी 10 वितरण केंद्र बनाए गए हैं। इसी तरह जनपद स्तर पर भी तिरंगों का वितरण किया जा रहा है, कुल मिलाकर पूरे जिले में लगभग 600 वितरण केंद्र बनाए गए हैं। सभी केंद्रों पर 15 रूपये में तिरंगा खरीदा जा सकेगा। उन्होंने बताया कि श्री गणेश खजराना मंदिर तथा रंजीत हनुमान मंदिर पर भी राष्ट्रीय ध्वज वितरित किया जा रहा है।
 
अल्पज्ञात नायकों की गाथाओं को रेखांकित करेगा यह उत्सव
 
पुलिस आयुक्त श्री हरिनारायण चारी मिश्र ने कहा कि देश के गौरव का प्रतीक है हर घर तिरंगा अभियान। इस अभियान के माध्यम से हमारी युवा पीढ़ी तिरंगे के सम्मान की अनुभूति कर सकेगी। उन्होंने कहा कि हर घर तिरंगा अभियान हमें अवसर प्रदान कर रहा है कि हम स्वतंत्रता संग्राम के अल्पज्ञात नायकों की प्रेरणास्पद गाथाओं से अवगत हो सकें। यह उन नायकों की भूमिका को रेखांकित करने का उत्सव है। उन्होंने सभी अधिकारियों से अपील करते हुए कहा कि वे ना केवल इस कार्यक्रम के साक्षी बने बल्कि इसे जन-जन तक पहुंचाएं ताकि जिले का एक-एक परिवार पूरे स्वाभिमान और गरिमा के साथ तिरंगे को अपने घरों एवं प्रतिष्ठानों पर फहराये।
 
tiranga yatra